स्वामी रामानंद  ने राम के निराकार -साकार रूप की स्थापना की

विरासत । डा० रामसनेही लाल शर्मा ‘यायावर’ उत्तर भारत में रामभक्ति की धारा बहाने में.

कवि सूरदास हिंदी साहित्य के अमूल्य धरोहर

विरासत । ० रामसनेही लाल शर्मा ‘यायावर’ हिंदी गीत के क्षेत्र में सूरदास का स्थान.

गीतकार विद्यापति हिंदी के अभिनव जयदेव

विद्यापति हिंदी के प्रथम गीतकार हैं। इनका स्वर मिथिला की अमराइयों में गूंजा था। इन्हें.